VPN क्या है? और इसका उपयोग कैसे करते हैं?

0
82

VPN क्या है? और इसका उपयोग कैसे करते हैं?

दोस्तों एक बार फिर से हाजिर हैं हम आपके साथ एक और न्यूज़ पोस्ट के साथ तो साथियों आज की इस पोस्ट के अंदर हम आपको एक ऐसी जानकारी से रूबरू कराने जा रहे हैं।जो कि आपके लिए काफी ज्यादा यूज़फुल हो सकती है। तो साथियों आप में से बहुत से लोगों ने VPN का नाम तो जरूर सुना होगा तो साथियों आज की इस पोस्ट के अंदर हम इसी के बारे में बात करने वाले हैं।अगर आप लोग भी जानना चाहते हैं। कि VPN क्या है? और इसे इस्तेमाल कैसे कर सकते हैं?तो इस पोस्ट को शुरू से लेकर अंत तक जरूर पढ़ें ताकि आप लोग VPN के बारे में संपूर्ण जानकारी को अपने हाथों में ले पाए।

जैसा के साथियों आपको पता ही होगा आज के समय में प्रत्येक व्यक्ति इंटरनेट का इस्तेमाल करता है। इंटरनेट का इस्तेमाल बैंक के कुछ जरूरी कामों के लिए भी किया जाता है। और इंटरनेट का सबसे ज्यादा उपयोग यूट्यूब पर वीडियो देखने हैं।या फिर गूगल में किसी चीज को खोजने के लिए करते हैं। तो उसके अंदर आपको जगह जगह पर अपनी पर्सनल डिटेल्स देनी पड़ती है। और इंटरनेट पर आज के समय पर काफी सारे लोग एक्टिव रहते हैं। तो इसी वजह से इंटरनेट पर बहुत से फ्रॉड एवं स्कैम भी होते रहते हैं। और जब उन्हें कोई सीधा-साधा व्यक्ति मिल जाता है। तो वह उसकी पर्सनल डिटेल्स को चुरा लेते हैं।और फिर उसे ब्लैकमेल करते हैं।

साथ ही उसे बहुत ज्यादा धमकाते हैं। और फिर उससे पैसे लेने की धमकी वगैरा भी देते रहते हैं।जैसा कि आपको पता ही होगा कि बहुत से लोग इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं। तू हमारी सलाह आप के प्रति यही रहेगी इंटरनेट का इस्तेमाल करते वक्त आप अपनी पर्सनल डिटेल्स को किसी भी जगह पर बिना जानकारी के नहीं देनी चाहिए हालांकि इंटरनेट पर काफी ज्यादा टाइट सिक्योरिटी हो गई है। मगर उसके बावजूद भी स्कैम होते रहते हैं। और दोस्तों इसी कारण से इस सिक्योरिटी को मजबूत करने के लिए एक नई सिस्टम को लांच किया गया है जिसका नाम VPN रखा गया है। तो आइए आखिरकार इसके बारे में संपूर्ण जानकारी हासिल कर ही लेते हैं।

जानिए VPN क्या है?

दोस्तों VPN का पूरा नाम virtual private network होता है। अगर साफ शब्दों में बोला जाए तो यह एक प्रकार से इंटरनेट के साथ में प्राइवेट कनेक्शन होता है। आप इस बात को तो जानते होंगे कि आपके मोबाइल के अंदर जो Wi-Fi होता है। वह एक तरह से private network ही होता है। और उसका इस्तेमाल कोई दूसरा व्यक्ति चाह कर भी नहीं कर सकता है। और इसी वजह से VPN आपकी पर्सनल डिटेल्स एवं डाटा को इंटरनेट पर उपस्थित हैकर एवं स्कैमर से बिलकुल सेफ रखता है। दोस्तों VPN आज के समय में कोई नई टेक्नोलॉजी नहीं है।इसे बहुत पहले से इस्तेमाल किया जा रहा है।काफी सारे लोग बहुत पहले से बैंकों में इसका उपयोग करते थे।यह एक प्रकार से उनका प्राइवेट कनेक्शन होता है। और उसका अन्य व्यक्ति उपयोग नहीं कर सकता है।

और दोस्तों यह एक ऐसी टेक्नोलॉजी है। जिसका इस्तेमाल आर्मी एवं देश की सिक्योरिटी की सुरक्षा करने के लिए भी इसका उपयोग किया जाता है।आपको जानकर हैरानी होगी कि काफी सारे एजुकेशन ऑर्गेनाइजेशन और बड़े-बड़े उद्योगपति भी इसका खूब इस्तेमाल करते हैं। कहने का मतलब है कि आपका जो internet कनेक्शन होता है। उसे VPN के द्वारा बिलकुल सेफ रखा जा सकता है। और चाह कर भी कोई व्यक्ति आपकी इंटरनेट पर उपलब्ध पर्सनल डिटेल्स को चुरा नहीं सकता है। और दोस्तों यह मोबाइल के साथ-साथ कंप्यूटर के अंदर भी personal data से लेकर IP address आंखों को बिल्कुल साफ रखता है।तो साथियों अब आप लोग VPN के बारे में तो काफी अच्छे तरीके से समझ गए होंगे।

VPN के काम करने का तरीका क्या है?

जैसा कि दोस्तों हम आपको VPN के बारे में ऊपर बता चुके हैं। मगर फिर भी हम आपको यहां पर बता दें कि VPN का सबसे महत्वपूर्ण काम आपके कनेक्शन को प्राइवेट रखना होता है।और यह आपकी आइडेंटी उदाहरण के तौर पर लोकेशन एवं IP address इन सारी चीजों को एक तरह से सुरक्षित रखता है। और जब कभी भी हम VPN को ओपन करते हैं।तो वह सबसे पहले हमारे कनेक्शन को उसी VPN के लोकल नेटवर्क के साथ कनेक्ट कर देता है। तो फिर उसके बाद हम जब भी इंटरनेट को ओपन करके इंटरनेट पर किसी चीज को सर्च करेंगे तो फिर हमारा इंटरनेट कनेक्शन हमारे देश के बाहर से एक virtual IP address के साथ कनेक्ट हो जाता है।

इसके बाद वह हमारे ip-address को हमारे ही डिवाइस से कनेक्ट कर देता है। जिसकी वजह से हमारा जो भी पर्सनल डाटा एवं डिटेल्स होती हैं। बिल्कुल सुरक्षित रहती हैं। यहां पर जो भी कनेक्शन क्रिएट होता है। तो फिर वह हमारे लोकल नेटवर्क एवं VPN के नए IP address के साथ में वह बिल्कुल पूरी तरह से इंक्रिप्टेड रहता है। और फिर इसी VPN कनेक्शन के साथ हमारी जो वेबसाइट या पर इंटरनेट कनेक्शन होता है। तो वह भी इंक्रिप्टेड रहता है। जिसके कारण इंटरनेट कनेक्शन बिल्कुल सुरक्षित रहता है। और पर इसी कारण से हैकर हमारे डाटा को चुरा नहीं सकता है।

VPN का उपयोग कैसे करते हैं?

दोस्तों अगर आप लोग भी अपने स्मार्टफोन के अंदर VPN को इस्तेमाल करना चाहते हो तो यह बिल्कुल सरल होता है।हां बहुत ही आसानी से इसे उपयोग कर सकते हो इसके लिए हमने आपको नीचे कुछ तरीके बताए हैं। जिन्हें फॉलो करके आप लोग VPN को उपयोग कर सकते हो।

स्टेप 1 : दोस्तों के लिए सबसे पहले आपको अपने स्मार्टफोन के अंदर गूगल प्ले स्टोर को ओपन कर लेना होगा और उसके अंदर सर्च बार में VPN लिखकर सर्च कर देना होगा फिर आप उसे डाउनलोड करके इंस्टॉल कर सकते हैं।

स्टेप 2 : मगर ध्यान रहे आपको उसी VPN को डाउनलोड करना है। जिसकी स्टार रेटिंग काफी अच्छी हो फिर आपको इसे इंस्टॉल करने के बाद ओपन कर लेना है।

स्टेप 3 : अब जब आप इसे ओपन करें तो आपका जिस देश का भी IP address होगा उसी से आपको इसे कनेक्ट कर देना चाहिए और जैसे ही आपका VPN कनेक्ट हो जाए तो उसके बाद आप लोग इंटरनेट का उपयोग कर सकते हो।

स्टेप 4 : और साथियों जब आपका VPN कनेक्ट हो जाए तो फिर आप लोग अपने इंटरनेट से किसी की वेबसाइट एवं एप्लीकेशन को उपयोग कर सकते हो आपका डाटा एवं पर्सनल डिटेल्स बिल्कुल सुरक्षित रहेगी।

pubg lite CONFIG LINK –

VPN की advantage क्या है?

(1) सुरक्षा: दोस्तों सबसे महत्वपूर्ण बात VPN आपके लिए बिल्कुल encrypted connection होता है। और यह पूरी तरह से secure IP address होता है। जिसके जरिए आप अपनी पर्सनल डिटेल्स को किसी भी हैकर से सेफ रख सकते हो।

(2) लोकेशन ब्लॉक : ऐसे बहुत से स्थान होते हैं। जहां पर आप की लोकेशन ब्लॉक हो जाती है। और ऐसे में काफी सारे एप्लीकेशन एवं वेबसाइट होती हैं। जिन्हें आप लोग VPN के द्वारा एक्सेस कर सकते हो।

(3) अपनी जानकारी को छुपाना : साथियों वीपीएन एक ऐसा तरीका है। जो कि आपकी पर्सनल डिटेल्स को दुनिया की नजरों से बिल्कुल छुपा कर रखता है आप इंटरनेट का उपयोग करके किसी भी चीज को डाउनलोड कर सकते हैं। और किसी को पता भी नहीं चलेगा।

VPN की disadvantages क्या होती हैं?

(1) रिलाइव से मुक्ति : दोस्तों वैसे आपको काफी सारे VPN मिल जाते हैं। जो कि आपको बिल्कुल फ्री में सर्विस प्रदान करते हैं। मगर ध्यान रहे उनका इस्तेमाल करने पर आपको समस्या भी हो सकती है।क्योंकि वह बीच में कभी भी अपना इंटरनेट कनेक्शन तोड़ सकते हैं। जिसकी वजह से कोई इशू हो सकता है। तो दोस्तों ऐसे भी कुछ paid VPN भी होते हैं। जो कि बिल्कुल पूरी तरह से सुरक्षित होते हैं।

(2) स्पीड कम होना: साथियों आमतौर पर आपको VPN के अंदर नॉर्मल स्पीड से भी बहुत ही कम स्पीड देखने के लिए मिलती है। मगर शायद आगे चलकर वह स्पीड फिक्स हो जाती है। फिर कोई दिक्कत नहीं आती।

(3) हर किसी पर विश्वास ना करें : दोस्तों आपको इस बात का विशेष ध्यान रखना चाहिए कि हर एक VPN भरोसेमंद नहीं होता है। आपके साथ धोखाधड़ी हो सकती है। इसलिए किसी भी VPN को इस्तेमाल करने से पहले उसे एक बार जरूर जांच लें।

आज आपने क्या सीखा?

दोस्तों उम्मीद करते हैं आपको हमारे द्वारा दी गई VPN क्या है? और इसका उपयोग कैसे करते हैं। आज प्रकार की जानकारी बहुत ही ज्यादा पसंद आई होगी और इससे आपको फायदा भी हुआ होगा आप चाहो तो इस जानकारी को अपने दोस्तों के साथ एवं सोशल मीडिया जैसे प्लेटफार्म पर भी शेयर कर सकते हो और अगर आपका इस पोस्टर से संबंधित कोई भी सवाल हो तो कमेंट बॉक्स के माध्यम से पूछ सकते हो धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here