QR Code क्या है और कैसे बनाया जाता है?

0
2455

QR Code क्या है और कैसे बनाया जाता है?

दोस्तों क्या तुम QR Code के बारे में जानना चाहते हैं कि QR Code क्या होता है यह कैसे बनाया जाता है और कैसे स्कैन करें इत्यादि जानकारी के बारे में आज हम आपसे चर्चा करें। यदि वास्तव में आप QR code के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी जानना चाहते हैं तो यह पोस्ट अंत तक पढ़ें।

QR code kya hai hai aur kaise banaen –

जैसा कि हम सब जानते हैं क्यूआर कोड पर उपयोगकर्ता लगातार हर दिन बढ़ रहे हैं और अभी कई सारे व्यक्ति इस तरीके से ही अपने रिश्तेदारों या फिर दोस्तों को मैसेज करते हैं। दोस्तों जैसा कि आपको पता ही होगा कि व्यक्ति इसे ऑफलाइन भी इस्तेमाल करते हैं । इसका इस्तेमाल आपने दुकानों पर भी देखा होगा और ऐसे आपने अनेकों प्रोडक्ट्स देखे होंगे जहां पर आपको QR code दिया हुआ होता है पर क्या आपने यह जानने की कभी कोशिश की है कि यह क्यों दिया हुआ होता है? क्योंकि हर चीज के पीछे कोई वजह होती है उसके होने की, तो दोस्तों यदि आपको नहीं पता है कि QR code कुछ प्रोडक्ट्स पर क्यों दिया हुआ होता है तो आपको बता दूं कि आप QR code को स्कैन करके उसकी उचित रेट अर्थात कीमत और कंपनी के बारे में डिटेल्स पता कर सकते हैं और यही इसका प्रमुख कारण है इसके दिए हुए होने का।

दोस्तों एक मजे की बात यह है कि आप भी अपना स्वयं का QR code बना सकते हैं और आप उसे कहीं भी जैसे कि अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं तो दोस्तों QR code बनाने के लिए और उसे स्कैन कैसे करें इसके लिए आपको अच्छी तरह से नीचे जानकारी दी है तो ध्यान से पढ़ें।

QR code kya hai and full form –

सबसे पहली बात तो यही है कि अनेक लोगों को इसकी फुल फॉर्म के बारे में भी नहीं पता होगा । आपको बता दें कि इस की फुल फॉर्म होती है-Quick Response code और मुझे यह भी पता है कि आप क्या सोच रहे होंगे। दोस्तों जहां तक मेरा ख्याल है आप सोच रहे होंगे कि इसे कब और किसने बनाया था और वह व्यक्ति कहां का रहने वाला था। तो आपको बता दूं इस QR कोड को Totya Group के Denso Wave ने 1994 में बनाया था। यह तो काफी समय पहले ही बना दिया गया था परंतु लोगों को इसके बारे में अभी भी नहीं पता है और कुछ आप जैसे लोगों को अब पता चल ही रहा है।

तुम्हें बता दूं कि जब इसे काफी समय पहले बनाया गया था तब इसका इस्तेमाल मुख्यतः वाहनों के पार्ट को ट्रैक करने के लिए किया जाता था परंतु अब इसका इस्तेमाल अनेकों कार्यों के लिए किया जाता है। उदाहरण के तौर पर आपको बता दूं आपने क्यूआर कोड आधार कार्ड पर भी अवश्य देखा होगा। यदि आप उसे स्कैन करके देखेंगे तो आपको उसके बारे में संपूर्ण जानकारी दी हुई होती है। क्यूआर कोड में केवल Symbol होता है इसको केवल स्कैन करने पर ही पढ़ सकते हैं आप चाहे कि आप वैसे ही पढ़ ले तो ऐसा नहीं हो सकता।

QR code इतना इंपॉर्टेंट क्यों होता है ?

वैसे आपने यह तो जान लिया है कि क्यूआर कोड का इस्तेमाल वर्तमान में लगभग अनेकों प्रोडक्ट्स या फिर अन्य चीजों पर देखने के लिए मिल रहा है परंतु ऐसी भी इस की क्या आवश्यकता है अब हम इसकी आवश्यकता के बारे में जानेंगे कि यह क्यों इतना इंपॉर्टेंट होता है। जहां तक मुझे लगता है कि जो लोग पहले से ही इंटरनेट का इस्तेमाल करते हैं तो उन्हें इसके बारे में शायद पहले ही पता होगा दोस्तों यह आपने देखा होगा तो थोड़ा देखने में अजीब प्रकार का सा होता है लेकिन इसके बारे में बिजनेस के मालिक और एंटरप्रेनर पूरा ज्ञान रखते हैं।

जैसा कि मैंने आपको पहले भी बता दिया है कि सर्वप्रथम इसका इस्तेमाल वाहनों को या फिर चीजों को ट्रैक करने के लिए supermarket के groceries में प्रयोग किया जाता था। परंतु यदि वर्तमान की बात की जाए तो इसका प्रयोग सभी लघु और दीर्घ कंपनियां अपने सेल्स को बढ़ाने के लिए कर रही हैं।

दोस्तों यदि हम कस्टमर्स अर्थात ग्राहकों की बात करें तो क्यूआर कोड की सहायता से और बिल्कुल सरलता से स्मार्टफोन को प्रयोग करके कुछ एक्शन जल्दी से जल्दी कर लेते हैं।

हो सकता है तो आपको यह पता नहीं होगा कि क्यूआर कोड को सबसे पहले स्कैनर आपकी मदद से ही कैप्चर किया जाता था फिर वह एप्लीकेशन उस क्यूआर कोड को किसी वैल्युएबल इंफॉर्मेशन में बदल देता था। चलिए इसे भी मैं आपको एक उदाहरण से समझाता हूं। यदि किसी एडवरटाइजिंग बोर्ड में आपने कोई क्यूआर कोड देखा होगा तो आपने उसे स्कैन कर लिया तब वह आपको किसी वेबसाइट पर लेकर जाएगा और वहीं पर आपको अन्य जानकारियां मिलेंगी।

QR code से हम क्या कर सकते हैं ?

तो दोस्तों क्यूआर कोड क्या होता है और इसका इस्तेमाल क्यों आवश्यक है जानकारी तो हम जान चुके हैं पर अब हम जानेंगे कि क्यूआर कोड से हम क्या कर सकते। तो आपको बता दूं कि क्यूआर कोड से तुम किसी चीज की इंफॉर्मेशन दे सकते हैं किसी को संदेश कर सकते हैं और इसके अलावा भी अन्य बहुत कुछ कर सकते हैं इसीलिए मैं आपको इसके बारे में थोड़ा विस्तार से बताने वाला हूं तो ध्यान से पढ़ें।

Link – किसी ब्लॉग अथवा वेबसाइट लिंक की क्यूआर कोड जनरेट कर सकते हैं जिसको स्कैन करने पर लिंक दिखाई देगा।

Text – दोस्तों आप चाहे तो कोई संदेश लिखकर उसका क्यूआर कोड जनरेट कर सकते हैं और उसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं आपके दोस्त जब क्यूआर कोड को स्कैन करेंगे तो उन्हें वह संदेश दिखाई देगा।

SMS – आप चाहे तो इससे डिस्प्ले मैसेज कर सकते हैं।

Bookmark – इससे तुम वेबसाइट अथवा वेब पेज को सेव करके उसे बुकमार्क कर सकते हैं।

Phone number- दोस्तों तुम इसमें अपना फोन नंबर जोड़ सकते हैं जिस को स्कैन करने पर तुम्हारा जो फोन नंबर होगा वह दिखाई देने लगेगा ‌

Contact information –

Contact information को जोड़कर हम क्यूआर कोड जनरेट कर सकते हैं।

Email address – दोस्तों यदि तुम चाहो तो अपने ईमेल आईडी का भी qr-code बना सकते हैं और उसे अपने दोस्तों के साथ शेयर कर सकते हैं जैसे स्कैन करने के बाद उन्हें आपकी ईमेल आईडी देखने लगेगी।

Geographical information -तुम क्यूआर कोड में किसी चीज को इंफॉर्मेशन जोड़ कर क्यूआर कोड बना सकते हैं।

तो दोस्तों इस प्रकार से qr-code के अनेकों महत्वपूर्ण काम है।

क्यूआर कोड में क्या-क्या स्टोर हो सकता है

दोस्तों यदि तुम यह जानना चाहते हो कि क्यूआर कोड में क्या क्या स्टोर हो सकता है तो आपको बता दूं कि आप इसमें यूआरएल डाल सकते हैं जैसे कोई स्कैन करेगा तो आपकी वेबसाइट ओपन हो जाएगी। तुम चाहो तो यूआरएल का क्यूआर कोड डाल सकते हो जिससे उसे स्कैन करने पर वह आपके अकाउंट पर रीडायरेक्ट हो जाएगा। उसी प्रकार आप इमेज वीडियोस यूआरएल की लिंक भी क्यूआर कोड में डाल सकते हैं। तो इस प्रकार से आप की बार कोड का इस्तेमाल कर सकते हैं।

उम्मीद करते हैं यह जानकारी आपको पसंद आई होगी। यदि इस जानकारी से संबंधित आपको कोई अन्य जानकारी चाहिए तो आप कमेंट बॉक्स में बता सकते हैं। दोस्तों इस जानकारी को आप अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर अवश्य शेयर करें। धन्यवाद

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here