Micro Niche ब्लॉग क्या है? और इसे कैसे बनाया जाता है?2022

0
1745

Micro Niche ब्लॉग क्या है? और इसे कैसे बनाया जाता है?2022

हेलो दोस्तों स्वागत है।आपका आज की नई पोस्ट में तो आज की इस पोस्ट के माध्यम से हम आपको एक ऐसी जानकारी प्रोवाइड करने जा रहे हैं। जिसके बारे में शायद ही आप पहले से जानते हो दोस्तों और आप लोग ब्लॉगिंग करते हो या फिर ब्लॉगिंग का काम कर रहे हो तो फिर आपको micro Niche blog के बारे में जानना और सीखना आप दोनों बहुत जरूरी है। आपको यह पता होना चाहिए। कि अगर आप लोग ब्लॉगिंग के क्षेत्र में काम कर रहे हो तो आपको हमेशा एक ऐसे Niche पर काम करना चाहिए जिसमें कंपटीशन अधिक ना हो।

अगर आप लोग ज्यादा कंपटीशन वाले Niche पर काम करोगे तो फिर आपको सफलता मिलने में काफी समय लग जाएगा।और आप काफी ज्यादा परेशान हो जाओगे इसलिए हम मुख्य रूप से आज की यह पोस्ट आपके लिए लेकर के आए हैं। इसमें हम आपको micro niche blog के बारे में संपूर्ण जानकारी प्रदान करने वाले हैं। और यह जानकारी आपके लिए काफी ज्यादा लाभदायक और मददगार साबित रहेगी तो इस पोस्ट में शुरू से लेकर अंत तक बने रहे।

Micro niche blog क्या है?

दोस्तों यहां पर हम आपको बता दें कि micro Niche को दो शब्दों से मिलकर बनाया गया है। और जिस में micro का मतलब सूक्ष्म होता है। एवं Niche का मतलब विषय होता है। तो इस प्रकार हम कह सकते हैं। कि जो भी ब्लॉग सूक्ष्म विषय पर बनता है। micro niche blog कहलाता है। उदाहरण के तौर पर अगर आप लोग हेल्थ पर ब्लॉग बनाते हो तो फिर वह नीचे ब्लॉग की कैटेगरी में आता है। अगर आप उसी तरह weight loss यानी कि वजन को कम करने के ऊपर ब्लॉग बनाओगे तू वह माइक्रो नीचे ब्लॉग कहलाएगा।

इसी प्रकार दोस्तों उनके ऐसे बहुत से उदाहरण होते हैं। जिसमें से एक उदाहरण मैंने आपको अभी ऊपर बता दिया है। और माइक्रो नीचे ब्लॉग का निर्माण targeted audience को ध्यान में रखकर किया गया है। और यह एक ऐसा ब्लॉग होता है। जिसमें हम कई प्रकार से कमाई कर सकते हैं। जैसे कि – ऐडसेंस, एफिलिएट मार्केटिंग एवं स्पॉन्सरशिप के द्वारा कमाई कर सकते हैं। अगर हम आपको साफ सी भाषा में समझाएं तो micro Niche ऐसा ब्लॉग है जिसके अंदर एक नीचे को Nerrow down करके ब्लॉग क्रिएट करते हैं।

Micro niche blog कैसे बनाएं? स्टेप बाय स्टेप

दोस्तों अगर आप भी ब्लॉगिंग करना चाहते हो और एक माइक्रो नीचे ब्लॉग क्रिएट करना चाहते हो तो हमने आपको इसके बारे में नीचे स्टेप बाय स्टेप पूरी प्रक्रिया समझा देने की पूरी कोशिश की है। तो आप उसे एक बार जरूर पढ़ें।

(1) Niche को चुने

दोस्तों micro Niche ब्लॉग बनाने से पहले आपको एक बढ़िया से Niche की बहुत ज्यादा आवश्यकता होती है। ऐसी मैं आपको एक अच्छा नीचे सिलेक्ट करना पड़ता है।और इसके लिए आपको बहुत ही भयंकर रिसर्च करने की आवश्यकता पड़ती है। दोस्तों अगर आपके पास थोड़े बहुत पैसे हैं। तो आप ऐसे मैं आरएफ टूल का इस्तेमाल कर सकते हो और एक कम कंपटीशन वाले ब्लॉग का चयन कर सकते हो।

(2) keyword research जरूर करें

दोस्तों कीवर्ड रिसर्च माइक्रो नीचे ब्लॉग का एक बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा माना जाता है। इसलिए आपको यहां पर नीचे सिलेक्शन के बाद 100 ऐसे कीवर्ड्स को फाइंड करना होगा जिसकी कीवर्ड्स डिफिकल्टी बहुत ही कम कहने का मतलब है। कि लोग आपके कीवर्ड्स के द्वारा आराम से आपके ब्लॉग पर पहुंच पाए इसलिए आप इन सभी कीवर्ड्स को अपनी नोटपैड में भी सेव करके रख सकते हो। और आप को मैं बता दूं कि आप लोग कीवर्ड रिसर्च के लिए पैड टूल का सहारा भी ले सकते हो।

(3) domain name खरीदना होगा

दोस्तों नीचे सिलेक्शन एवं कीवर्ड् रिसर्च के बाद यहां पर domain name को चुनने का ऑप्शन आता है। इसलिए आपको यह बात ज्यादा नोटिस करनी है। कि आप कोई भी डोमिन हो उसे आप अपने नीचे से संबंधित ही खरीदें उदाहरण के तौर पर अगर आप लोगों ने weight loss के ऊपर कोई ब्लॉक बना दिया है। तो इसके लिए आप weight loss guide.com का इस्तेमाल कर सकते हो यानी कि आपको अपने फोकस कीवर्ड एग्जैक्ट मैच करने वाला डोमेन नेम खरीदना बहुत ही अच्छा रहता है।

(4) blogging platform को चुने

दोस्तों अगर आप माइक्रो नीचे ब्लॉग बनाना चाहते हैं। तो इसके लिए आपको एक अच्छा सा ब्लॉगिंग प्लेटफॉर्म चुनना पड़ता है। जहां पर आपको सभी प्रकार की सुविधाएं आसानी से मिल सके बहुत से लोगों को इस बात से कन्फ्यूजन होती है। कि उनको आखिरकार ब्लॉग कहां पर बनाना चाहिए। तो हम आपको यहां पर यही सलाह देने कि आप लोग वर्डप्रेस पर अपना माइक्रो नीचे ब्लॉग बनाएं। क्योंकि वर्डप्रेस के अंदर आपको बहुत सारे प्लगिंस देखने के लिए मिलते हैं। जिससे आप एक टॉप लेवल का SEO अपनी पोस्ट के अंदर कर सकते हो।

इतना ही नहीं बल्कि आपको वर्डप्रेस के अंदर on page SEO, off page SEO एवं technical SEO करने के लिए काफी सारे प्लगिंस उपलब्ध करवाए जाते हैं। इसी के साथ साथ दोस्तों WordPress आप को lightweight theme जैसी सुविधाएं भी देती है। इससे फायदा यह होता है। कि आपकी वेबसाइट की स्पीड काफी अच्छी हो जाती है। और अगर आपकी वेबसाइट की स्पीड अच्छी होगी तो आपकी वेबसाइट खुद ब खुद ही रैंक होने लग जाएगी।

(5) blog का सेटअप सही से करें

दोस्तों अगर आप लोगों ने वर्डप्रेस पर अपना micro niche blog बनाने का फैसला कर लिया है। तो फिर इसके लिए आपको एक fast hosting को लेना होगा। फिर बाद में उसे डोमेन से कनेक्ट करना होगा। फिर आपको plugin install कर देने के बाद एक lightweight theme का इस्तेमाल भी अपने ब्लॉक के अंदर करना पड़ेगा दोस्तों वर्डप्रेस पर माइक्रो नीचे ब्लॉग बनाने के लिए आप लोग bluehost hosting की मदद ले सकते हो क्योंकि उसको माइक्रो नीचे ब्लॉग के अंदर सबसे ज्यादा कमाई करने का मतलब एफिलिएट मार्केटिंग होता है। उसके लिए आप लोग अपने ब्लॉक के अंदर एफिलिएट बूस्टर थीम का उपयोग कर पाओगे।

(6) आर्टिकल लिखना स्टार्ट कर दें

जब आप ब्लॉग का सेटअप कर लेते हो तो इसके बाद आपको आर्टिकल लिखने शुरू कर देनी चाहिए। और ध्यान रहे आपको अपने आर्टिकल को पब्लिश करने का एक निश्चित टाइम यानी कि शेड्यूल भी बनाना पड़ेगा। और आपको माइक्रो नीचे ब्लॉक के अंदर ज्यादा कंटेंट नहीं लिखना पड़ता है। इसके लिए आप लोग हफ्ते में 2 या 3 रोजाना ब्लॉक में पब्लिश कर सकते हो आपको यहां पर एक बार ध्यान रखनी है। कि आप जो भी आर्टिकल लिखे हैं। वह सबसे अलग एवं यूनिक और हाई क्वालिटी वाला होना चाहिए। जिससे SEO friendly होने में आसानी हो जाए।

(7) ब्लॉग का SEO जरूर करें

इतना सब करने के बाद आपको अपने ब्लॉग का SEO proper जरूर करना चाहिए इसके लिए आपको बैकलिंक्स बनाने पड़ेंगे और जो भी technical error आता है। उसे भी आपको सॉल्व करना पड़ेगा क्योंकि अपने ब्लॉग को सर्च इंजन के अंदर रैंक करवाने के लिए यह सबसे महत्वपूर्ण फैक्टर माना जाता है। अगर आप लोग एक बेहतरीन तरीके से SEO करने लगते हो तो फिर आपकी वेबसाइट जल्दी रैंक होने के लिए काफी संभावना बढ़ जाती है। नहीं तो आपकी वेबसाइट गूगल सैंडबॉक्स में ही रह जाती है।

(8) ब्लॉग से पैसे कमाए

दोस्तों सब कुछ सीख लेने के बाद अब आपके मन में एक सवाल तो जरूर आया होगा कि ब्लॉग के द्वारा अगर कर पैसे कैसे कमाए जा सकते हैं? वह कौन से तरीके हैं? जिनसे हम अच्छे खासे पैसे कमा सकते हैं।तो दोस्तों इस की सारी डिटेल्स हमने आपको नीचे बता दिया आप उन्हें जरूर पढ़ें।

• गूगल ऐडसेंस

• एफिलिएट मार्केटिंग

• गेस्ट पोस्ट

• स्पॉन्सरशिप

• पैड प्रमोशन

दोस्तों ब्लॉग में हमने आपको जो भी तरीके बताए हैं। अगर आप उन सभी तरीकों को फॉलो करते हो तो फिर आप भी अच्छी खासी कमाई कर सकते हो वह भी केवल अपनी मेहनत के दम पर मगर आपको शुरू में काफी ज्यादा मेहनत करनी पड़ती है। तब जाकर आपको कामयाबी हासिल होगी।

Micro niche blog के क्या फायदे होते हैं?

दोस्तों आमतौर पर माइक्रोनी से ब्लॉक के हमें निम्नलिखित फायदे देखने के लिए मिलते हैं। जो कि कुछ इस प्रकार से हैं –

• अगर आपके ब्लॉग पर कम ट्रैफिक आ रहा है। तो उससे भी आप अच्छे खासे पैसे कमा सकते हो।

• जब आप माइक्रो नीचे ब्लॉग बनाते हो तो फिर आपको शुरू में 5 से 6 महीने मेहनत करनी पड़ती है। फिर उसके बाद आप लोग पैसिव इनकम कर पाते हो।

• गूगल माइक्रो नीचे ब्लॉग को जल्दी रैंक करता है। क्योंकि ब्लॉक के अंदर एक ही टॉपिक पर ज्यादा जानकारी होती है।

•और आप लोगों सर्च इंजन एवं लोगों की नजरों में बहुत ही बड़े इंटेलिजेंट एवं एक्सपर्ट बन जाते हो इसलिए वह आपकी सलाह भी लेते हैं।

Micro niche blog के नुकसान क्या हो सकते हैं?

दोस्तों आप इस बात को जानकर हैरान रह जाएंगे। कि माइक्रो नीचे ब्लॉग के फायदों की तुलना में इसके नुकसान बहुत ही कम देखने के लिए मिलते हैं। जैसे –

• माइक्रो नीचे ब्लॉग पर ज्यादा ट्रैफिक नहीं आ पाता है।

• और माइक्रो नीचे ब्लॉक के लिए हमें कंटेंट आईडिया बहुत ही कठिनाई से मिलते हैं।

आज आपने क्या सीखा?

तो साथियों आज किस पोस्ट के माध्यम से हमने आपको micro niche blog के बारे में बताया है। और हम आशा करते हैं। कि आपको हमारे द्वारा दी गई यह जानकारी बहुत ही पसंद आई होगी और इससे आपको फायदा भी मिलेगा साथियों जानकारी पसंद आने पर आप इसे अपने दोस्तों में जरूर शेयर करें इसी के साथ सोशल मीडिया पर भी भेज सकते हैं। अगर पोस्ट से संबंधित आप दोनों कोई सवाल हो तो कमेंट में बताएं धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here